ट्रंप पर निशाना साधते हुए ओबामा ने कहा “डर की राजनीति के खिलाफ एकजुट होइए”

ट्रंप पर निशाना साधते हुए ओबामा ने कहा "डर की राजनीति के खिलाफ एकजुट होइए"

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने लोगों से आने वाले समय में फिर से डेमोक्रेट्स को सत्ता सौंपने और डर की राजनीति के खिलाफ खड़े होने का आह्वान किया।

कैलिफोर्निया में एक चुनाव प्रचार में हिस्सा लेते हुए उन्होंने लोगों को संबोधित किया और ट्रंप पर तीखा हमला किया। ओबामा ने नवंबर में होने वाले मध्यावधि चुनावों के चुनाव प्रचार में हिस्सा लिया था। यूं तो पारंपरिक रुप से कैलिफोर्निया रिपब्लिकन पार्टी का समर्थन करने वाला माना जाता है लेकिन ओबामा को सुनने के लिए लोगों में उत्साह नजर आया। ओबामा ने कहा कि देश इस समय बहुत चुनौतीपूर्ण समय में गुजर रहा है।

अभी तक के चलन के विपरीत किसी पूर्व राष्ट्रपति ओबामा आगामी मध्यावधि चुनावों में डेमोक्रेट्स की दावेदारी मजबूत करने के मद्देनजर शुक्रवार को इलिनोईस में प्रचार अभियान में उतरते नजर आए। जबकि इससे पहले समय में पूर्व राष्ट्रपति अपनी लोकप्रियता खोने के कारण चुनावों से बचते आए हैं।

इसके अलावा अनाहेम में उन्होंने कहा कि मतदाताओं को नवंबर में एक स्पष्ट संकेत देने की जरूरत है कि वे ‘आक्रमकता एवं विभाजन के चक्र को उलटना’ चाहते हैं और ‘अपनी राजनीति में थोड़ी समझदारी को फिर से बहाल’ करना चाहते हैं।

हालांकि ओबामा ने किसी का नाम नहीं लिया लेकिन उनके शब्द साफ तौर पर अमेरिका के मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए थे। ओबामा ने ट्रंप को एक भाषण के दौरान ‘धौंस जमाने वाला’ व्यक्ति बताया था।

ट्रंप को आई नींद?
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा का भाषण देखने के दौरान उन्हें नींद आ गई। ट्रंप ने कहा, “मुझे माफ करना, मैंने देखा लेकिन मुझे नींद आ गई… मुझे वह सोने के लिए बहुत अच्छे लगे।”

भावुक ओबामा का छात्रों को भावुक संदेश
चुनावों की इसी गहमागहमी के बीच ओबामा काफी भावुक हो गए और छात्रों से कहा कि वो आज ही अपने माता-पिता को फोन करें, क्योंकि वो आपके बिना, आपसे दूर रहकर अकेले में बहुत रोते हैं।

छात्रों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा “आप में से ज्यादातर छात्र यहां घर से दूर रहकर पढ़ाई कर रहे हैं। शायद नौकरी के लिए भी घर से दूर ही रहना पड़े। आपके माता-पिता घर पर अकेले हैं। आपके कैरियर, आपकी खुशी के लिए उन्होंने आपको घर से दूर तो भेज दिया, लेकिन यकीन मानिए वो रोज घर के एक कोने में बैठकर आपको याद करते हैं। कभी-कभी तो अकेले में रो भी देते होंगे।“

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *