यूट्यूब को टक्कर देगा फेसबुक का नया टूल

यूट्यूब को टक्कर देगा फेसबुक का नया टूल

फेसबुक दुनियाभर में अपनी वॉच वीडियो-स्ट्रीमिंग सर्विस लॉन्च करने जा रहा है. अमरीका में ये सर्विस एक साल से चल रही है.

ये सर्विस यूज़र्स को ढेरों विकल्प देगी, जिसमें से वो अपना पसंदीदा शो चुन सकते हैं. इनमें बड़े ब्रैंड्स और नए प्लेयर, दोनों के ही शो देखने को मिलेंगे. इसके अलावा न्यूज़ फीड में सेव की गई क्लिप भी यहां देखी जा सकेगी.

दर्शक जिस वीडियो को ज़्यादा देखेंगे, उसे विज्ञापन मिलने लगेंगे. अभी तक कुछ गिने-चुने पब्लिशर को ही ये फायदा मिलता था.

शुरुआत में ब्रिटेन, अमरीका, आयरलैंड, ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड में दिखाई जाने वाली वीडियो में ही ये सुविधा होगी.

वीडियो से होने वाला मुनाफा निर्माता और फेसबुक में बाँटा जाएगा. निर्माता को 55% और फेसबुक को 45% पैसा मिलेगा.

फेसबुक बुधवार को सर्विस शुरू होने की तारीख बताने वाला था, लेकिन जानकारी लीक होने की वजह से घोषणा को टाल दिया गया. इसकी वजह से कुछ यूज़र इसका पेज नहीं देख पा रहे हैं.

बेख़बर दर्शक

फेसबुक की वॉच सर्विस को गूगल के यूट्यूब का प्रतिद्वंद्वी बताया जा रहा है. लेकिन ये ना सिर्फ यूट्यूब का बल्कि पारंपरिक टीवी चैनल्स और ऑनलाइन ऑउटलेट जैसे नेटफ्लिक्स, अमेज़न वीडियो, बीबीसी आईप्लेयर और फेसबुक के अपने इंस्टाग्राम टीवी को भी टक्कर देगा.

पिछले हफ्ते आई एक स्टडी में बताया गया कि अमरीका के लोगों ने सिर्फ शुरुआती साल में ही इसमें दिलचस्पी दिखाई.

डिफ्यूज़न समूह ने 1,632 वयस्क फेसबुक यूज़र्स से इस बारे में सवाल किए. जिनमें से 50% ने वॉच के बारे में कभी सुना ही नहीं था, जबकि 24% ने कहा कि ऑन-डिमांड सर्विस के बारे में तो पता था, लेकिन उन्होंने कभी इसका इस्तेमाल नहीं किया.

सिर्फ 14% ने कहा कि उन्होंने हफ्ते में एक बार इस सर्विस का इस्तेमाल किया.

हालांकि एक दूसरी रिपोर्ट कहती है कि वॉच के कुछ शोज़ को लाखों लोगों ने देखा है. कुछ लोग उन शोज़ को बार-बार देखना चाहते हैं.

प्लेटफॉर्म के ओरिजनल प्रोग्राम्स के लिए कई बड़े सितारे भी काम कर रहे हैं.

साथ मिलकर देखें

फेसबुक का दावा है कि उनकी ये सर्विस लोगों को इंटरेक्ट करने में मदद करती है.

फेसबुक में वीडियो के वाइस प्रेसिडेंट फुड्जी सिमो कहते हैं, “कंटेंट को लेकर आप दोस्तों, दूसरे फैंस और खुद निर्माताओं से बातचीत कर सकते हैं.”

सिमो वॉच पार्टी फीचर के बारे में बताती हैं. वो कहती हैं कि इस फीचर की मदद से दो लोग एक साथ शो देख सकते हैं. इसके अलावा इंगेजमेंट बढ़ाने के लिए निर्माता पोल, चैलेंज और क्विज़ चला सकते हैं.

अगर कोई निर्माता फेसबुक की वॉच सर्विस के लिए कंटेंट तैयार करना चाहता है, तो उसके पास कुछ योग्यता होनी ज़रूरी है:

  • निर्माता ने तीन मिनट से लंबी वीडियो बनाई हो
  • दो महीने के अंदर उनके कंटेंट को तीस हज़ार लोगों ने कम से कम एक मिनट देखा हो
  • उनके 10,000 से ज़्यादा फॉलोअर्स हों
  • उनका ऑफिस एड ब्रेक सुविधा वाले किसी एक देश में हो
  • एक इंडस्ट्री वॉचर का मानना है कि ये शर्ते स्वतंत्र वीडियो निर्माताओं के लिए फायदेमंद साबित होंगी. ये निर्माता यूट्यूब की नीतियों से काफी परेशान रहते हैं, क्योंकि यूट्यूब अपना खुद का विज्ञापन कार्यक्रम चलाता है.

    यही वजह है कि कई निर्माता कमाई के दूसरे तरीके खोजते रहते हैं. इनमें से कुछ ने तो अमेज़न के ट्विच का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है. इसलिए फेसबुक की वॉच सर्विस इन लोगों के लिए एक अच्छा विकल्प साबित हो सकती है.

    फेसबुक का कहना है कि फ्रांस, जर्मनी, नॉर्वे, मेक्सिको और थाईलैंड जैसे देशों के निर्माताओं को सितंबर से एड ब्रेक मिलने लगेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *